Mangliyawas Ka Mela Kab Hai 2023: मांगलियावास का मेला कब है 2023

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Mangliyawas Ka Mela Kab Hai 2023: मांगलियावास का मेला कब है 2023:- Mangliyawas Ka Mela Kab Hai 2023 | Mangliyawas Ka Mela Date 2023 | मांगलियावास का मेला कब है 2023 | Mangliyawas Ka Mela News : मांगलियावास का मेला किस तारीख को है | मांगलियावास का मेला कब भरेगा 2023 | मांगलियावास का मेला कितनी तारीख को है? | कल्पवृक्ष का मेला कब लगता है? | Mangliyawas Kalpavriksha Ka Mela Kab Hai | मांगलियावास कल्पवृक्ष का मेला कब है | मांगलियावास का मेला कितनी तारीख को है? | कल्पवृक्ष का मेला कब लगता है? – मांगलियावास अजमेर में कल्पवृक्ष मेला प्रतिवर्ष श्रावण मास की हरियाली अमावस्या को आयोजित किया जाता है. इस साल भी कल्पवृक्ष मेला 17 जुलाई 2023 सोमवार और 16 अगस्त 2023 बुधवार को है.

ब्रह्माजी की नगरी अजमेर में कुछ दूरी पर स्थित है मांगलियावास गांव. हरियाली अमावस्या के दिन इसी गांव में मेला लगता है. देशभर में विख्यात है मांगलियावास का कल्पवृक्ष मेला. यहां की मान्यता है कि कल्पवृक्ष से सच्चे मन से जो मांगा जाता है वह मनोकामना अवश्य पूर्ण होती है.


Mangliyawas Ka Mela Kab Hai 2023
Mangliyawas Ka Mela Kab Hai 2023

हमारे Telegram चैनल से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें : Click Here

Mangliyawas Ka Mela Kab Hai 2023: मांगलियावास का मेला कब है 2023

मांगलियावास (अजमेर) में कल्पवृक्ष का मेला हर साल श्रावण मास की हरियाली अमावस्या को आयोजित किया जाता है. इस साल भी कल्पवृक्ष मेला 17 जुलाई 2023 (सोमवार) और 16 अगस्त 2023 (बुधवार) को भरेगा.

 

हमारे Whatsapp ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें : Click Here

 

क्यों मनाया जाता है कल्पवृक्ष मेला ?

ऐसी मान्यता है कि आठ सौ वर्ष पूर्व एक तेज तर्राट तपस्वी अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए स्वर्ग से अपनी तान्त्रिक विद्या के बल पर एक शिवलिंग व कल्पवृक्ष को लेकर आकाश मार्ग से ग्राम के उपर से गुजर रहा था तो ग्राम में उस समय डेरा डाले हुए दो सूफी सन्त मंगलसिंह और उसके शिष्य फतेहसिंह ने अपनी वैदिक शक्तियों के बल पर पंचमुखी शिवलिंग व कल्पवृक्ष को यहीं धरती पर उतरवा लिया. तभी से यह कल्पवृक्ष व सदर बाजार में स्थित शिवलिंग अपने परोपकारी गुणों तथा मनोकामनाओं को पूर्ण करने के लिये पूज्यनीय बने हुए है. इन्हीं वृक्षों के पास स्थित दो टेकरियों पर दोनों सूफी सन्तों की मजारें है. इन्हीं दोनो सन्तो में से एक मंगलसिंह के नाम से कालान्तर में ग्राम का नाम मांगलियावास पड़ा था.

Mangliyawas Ka Mela Kab Hai मांगलियावास का मेला कब है – FAQs.

मांगलियावास में कल्पवृक्ष मेला कब भरेगा ?

मांगलियावास में कल्पवृक्ष का मेला 17 जुलाई 2023 सोमवार और 16 अगस्त 2023 बुधवार को भरेगा.

मांगलियावास अजमेर में कल्पवृक्ष मेला हर साल कब आयोजित किया जाता है ?

श्रावण मास की हरियाली अमावस्या को

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Leave a Comment

Join TelegramJoin WhatsApp
WhatsApp Group
WhatsApp Group