sarkari yojana

Locomotor Disability Meaning in Hindi लोकोमोटर विकलांगता का हिंदी अर्थ

Locomotor Disability Meaning in Hindi लोकोमोटर विकलांगता का हिंदी अर्थ लोकोमोटर विकलांगता क्या है: लोकोमोटर विकलांगता का अर्थ है एक जगह से दूसरी जगह जाने में समस्या, यानी पैरों में विकलांगता। लेकिन, सामान्य तौर पर, इसे हड्डियों, जोड़ों और मांसपेशियों से संबंधित विकलांगता के रूप में लिया जाता है। यह किसी व्यक्ति के आंदोलनों (जैसे चलना, हाथ में चीजें उठाना या पकड़ना आदि) में समस्या उत्पन्न करता है।

 

लोकोमोटर विकलांगता (Locomotor Disability) का अर्थ क्या होता है?

लोकोमोटर विकलांगता का अर्थ होता है – चलने फिरने में असमर्थता; शरीर के अंगों का गति करने में अक्षमता / विशेष रूप से लोकोमोटर डिसेबिलिटी का अर्थ होता है एक जगह से दूसरी जगह जाने या स्थान-परिवर्तन में समस्या यानी पैरों में विकलांगता या अपंगता।

Join Telegram Channel : Click Here
Join Whatsapp Group : Click Here

 

लोकोमोटर डिसेबिलिटी क्या होता है (Locomotor Disability Meaning in Hindi)

चलने फिरने में असमर्थता; शरीर के अंगों का गति करने में अक्षमता / विशेष रूप से लोकोमोटर डिसेबिलिटी का अर्थ होता है एक जगह से दूसरी जगह जाने या स्थान-परिवर्तन में समस्या मतलब पैरों में विकलांगता या अपंगता। लेकिन, सामान्यता इसे हड्डियों, जोड़ों और मांसपेशियों से जुड़ी अपंगता के रूप में लिया जाता है।

 

Locomotor Disability Meaning in Hindi

लोकोमोटर डिसेबिलिटी का अर्थ है एक जगह से दूसरी जगह जाने में समस्या, यानी पैरों में विकलांगता। लेकिन, सामान्य तौर पर, इसे हड्डियों, जोड़ों और मांसपेशियों से संबंधित विकलांगता के रूप में लिया जाता है। यह किसी व्यक्ति के आंदोलनों (जैसे चलना, हाथ में चीजें उठाना या पकड़ना आदि) में समस्या उत्पन्न करता है।

 

लोकोमोटर विकलांगता (Locomotor Disability) लोकोमोटर विकलांगता का अर्थ है – अंगों की गति में प्रतिबंध।

 

Locomotor Disability (लोकोमोटर विकलांगता) FAQs:

Q: लोकोमोटर विकलांगता क्या है?

Ans. यह एक ऐसी अवस्था है जिसमें शारीरिक क्षति के कारण व्यक्ति की हड्डियों, माँसपेशियों एवं जोड़ों को सामान्य रूप से कार्य करने में बाधा हो।

Q: डिसेबिलिटी का मतलब क्या होता है?

Ans. विकलांगता का अर्थ: विकलांग होने की अवस्था; अभाव या क्षमता की चाह; सक्षम शारीरिक, बौद्धिक, या नैतिक शक्ति, साधन, फिटनेस और पसंद की अनुपस्थिति।

Q: विकलांगता कितने प्रकार की होती है?

Ans. विकलांगता के प्रकार- दृष्टि विकलांगता, बोलने में विकलांगता, श्रवण विकलांगता, लोकोमोटर विकलांगता, मानसिक विकलांगता, कुष्ट उपचारित व्यक्ति।

Q: विकलांग सर्टिफिकेट कैसे बनता है?

Ans. सीएमओ दफ्तर में हर गुरुवार को विकलांग प्रमाण पत्र बनाए जाते हैं। प्रमाण पत्र बनाने वालों को ऑफिस से ही आवेदन फॉर्म लेकर भरना होता है। ये फॉर्म सुबह दस से दोपहर 12 बजे तक संबंधित लिपिक के पास ही जमा कराने होते हैं। इस फॉर्म के साथ आवेदन करने वाले को अपना आइडी प्रूफ और घर के पते का प्रूफ लगाना होता है।

Q: क्या हकलाना विकलांग में आता है?

Ans. हकलाना विकलांगता नही हैं दरअसल यह एक स्पीच डिसऑर्डर हैं। अगर स्पीच थेरपिस्ट से रोज थेरपी कराया जाए तो हकलाने की समस्या से निजात मिल सकती हैं।

Leave a Comment

Join Telegram
Telegram